युवामंच

सत्यमेव जयते

68 Posts

20 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 8098 postid : 1381952

६९वा गणतंत्र दिवस !

Posted On: 27 Jan, 2018 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

आदरणीय मित्रों ,….सादर प्रणाम !

आज भारत ने अपना ६९वा गणतंत्र दिवस मनाया !……हम सभी को हार्दिक शुभकामनाएं है !………..इस बार दस आसियान देशों के माननीय राष्ट्रप्रमुख हमारे आदरणीय मुख्य अतिथि बने !……हम भारत के लोग अपने निकट और गहरे सनातन मित्रों का सादर अभिनन्दन अभिवादन करते हैं !………हमारे पूज्य प्रधानमंत्रीजी ने आदरणीय अतिथियों की आत्मीय गर्मजोशी से अगवानी की !……आसियान देशों के साथ हमारी निकट मैत्री से सम्पूर्ण सम्बंधित मानवता प्रत्यक्ष लाभान्वित होगी !………गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर माननीय महामहिम महोदय का महान उद्बोधन देश के लिए अत्यंत प्रेरक रहा !….आज उन्होंने तिरंगा फहराया !…….राजपथ पर आयोजित भारतीय गणतंत्र दिवस की सैन्य परेड इसबार भी अत्यंत गौरवशाली रही !……..हमारे गौरवशाली सैन्यशक्ति ने अपने सर्वोच्च सेनानायक को शानदार सलामी दी !……..सीमा सुरक्षा बल की महिला योद्धाओं का मोटरसाइकिल पर साहसिक प्रदर्शन देखना अत्यंत ही रोमांचक रहा ! …. साहस तेज से संपन्न सीमा भवानी को पूरे देश ने सादर सलाम किया !…….इस परेड में उभरती नारी नेतृत्व शक्ति से भारत को विशेष सुखानुभूति हुई !……..लड़ाकू विमानों की करतबी गर्जना से सभी बेहद रोमांचित हुए !……..हमारे राज्यों मंत्रालयों की झांकियां भी अत्यंत मोहक प्रेरक रही !

अद्भुत मुख्य कार्यक्रम के बाद पूज्य प्रधानमंत्रीजी ने राजपथ पर पैदल जनदर्शन किया ,….आम जनता का अपने पूज्यप्रधान से साक्षात अभिवादन आदान प्रदान करना अत्यंत अभिभूत करने वाला रहा !……..अपनी समर्पित सहजता सरलता मधुरता दृढ़ता से ही माननीय मोदीजी महान कर्मयोगी महामानव बने हैं !……..उनके महान नेतृत्व में श्रेष्ठ होता भारत सम्पूर्ण संसार को सार्थक दिशा देता दिख रहा है !……..निश्चित रूप से माननीय मोदीजी मानवता के लिए महान वरदान हैं !……..इस गणतंत्र दिवस पर सबसे विशेष पल तब आया .. जब……. हमारे शूरवीर गरुण कमांडो पूज्य शहीद ज्योति प्रकाश निराला जी की वीरांगना अर्धांगिनी को सर्वोच्च अशोक चक्र सम्मान दिया गया !……….हमारे पूज्य महामहिम महोदय की आँखें छलक आई !…….देश पवित्र कृतज्ञता में कुछ पलों के लिए स्तब्ध हो गया !……….हम सदैव अपने पूज्य शहीदों के सम्मान में सादर नतमस्तक रहते हैं ,..लेकिन …..एक महान राष्ट्रप्रमुख की देश के लिए सर्वोच्च वीरतायुक्त बलिदान के प्रति भावपूर्ण पीड़ा आत्मीयता ने हम जैसे कठोर मूर्खों को भी अन्दर तक चीर दिया !…….वो भावपूर्ण क्षण अतुल्य थे !……..हम अपने पूज्य महामहिम श्रीमान रामनाथ कोविंद जी को सहस्रों सादर प्रणाम करते हैं !….

इस पवित्र अवसर पर हम अपने अमर शहीदों को पुनः पुनः सादर नमन प्रणाम करते हैं !………हम अपने पूज्य शहीदों की आदरणीय माताओं पिताओं पत्नियों बच्चों परिवारजनों मित्रों को भी सादर नमन करते हैं !……..हम बलिदानी आत्माओं के चिरऋणी हैं !………..गणतंत्र दिवस के इस पवित्र अवसर पर हम अपने समर्पित संविधान निर्माताओं को सादर प्रणाम करते हैं !……..हम पूज्य बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर जी के भी चिरऋणी है !……….तमाम अंतर्विरोधों के बावजूद हमारा संविधान हमें संभालने में समर्थ सिद्ध हुआ है !……..विकास का प्रयास सनातन स्वाभाविक है !…….प्रत्येक स्तर पर परिवर्तन हमारे संसार की अवश्यम्भावी प्रक्रिया होती है !…………हम किस स्तर पर स्थायी परिवर्तनशील परमशक्ति से जुड़ सकते हैं यह हमपर,…. हमारे सतत चुनाव पर निर्भर करता है !…..बहरहाल इस पवित्र अवसर पर भारत अपने सभी नागरिकों का भी आभार अभिनन्दन करता है !……….परिवर्तन की धुरी तो सक्षम नेतृत्व में है ,…लेकिन ….इसके चक्र हम नागरिक होते हैं !…….. अपने दायित्वों क्षमताओं का बोध और उनका समर्पित क्रियान्वन हमें ही करना होगा ,……. पूज्य प्रेरणापुरुष हमारा नेतृत्व मार्गदर्शन कर रहे हैं !……हमें यह महान अवसर लपकना ही चाहिए !………हम अपने सुयोग्य,राष्ट्रभक्त,समर्पित नेतृत्व को कोटिशः सादर प्रणाम करते हैं !…….हम अपनी सेना को सतत सादर प्रणाम करते हैं !……..इस महान आयोजन के लिए परिश्रम करने वाली समस्त आत्माओं का हम आभार अभिवादन अभिनन्दन करते हैं !….

कुछ कसैला भी !……कांग्रेस ने इस महान आयोजन पर भी ऊँगली उठाने की हिमाकत की है ,…उनके नालायक नेता को कुछ पिछली पंक्ति में बैठाया गया !…… अ-पवित्र नेहरू-गांधी खानदान और मौजूदा कांग्रेस पार्टी को कभी खुद से भी पूंछना चाहिए कि,…..क्या वो इसके भी वास्तविक हकदार हैं !!!……….भारतवर्ष से उनके अपराध अथाह हैं ,…..उनको सहन करना मात्र हमारी स्वाभाविक सहनशीलता है !…….नेहरू वंशज प्राप्त शक्तियों के भयानक दुरूपयोग के अक्षम्य अपराधी हैं !…..वैसे ……कांग्रेस जैसा हाल पाकिस्तान का भी है ,……….एक के दस खाकर भी न सुधरने वाले को शायद पाकिस्तान कहते हैं !……..शायद काठ कठमुल्लई से अधिक लचीली होती होगी !…….बहरहाल ….तमाम वैश्विक विषयों में हमारी उन्नति हमारे दृढ़ मूलाधार और सक्षम वर्तमान नेतृत्व का प्रत्यक्ष प्रमाण है !……नाहक अनुचित विरोध करने वालों को नियति निपटा ही देगी !…………संसार हमारे तमाम महान दूरदर्शी परिवर्तनों का सादर साक्षी है !………कई आतंरिक विषयों में हम लम्बी गुलामी ढो रहे हैं ,….पुरानी मैल हटाने में समय परिश्रम दोनों अधिक लगते हैं !……..पुरानी गलतियों और अकर्मण्यता के प्रभाव से हम शर्मशार भी हैं !…….धरती पर जघन्य बलात्कारों का इलाज क्या है !…….बाल बलात्कार पर कठोर कानून बनाने वाली राज्य सरकारें बधाई की पात्र हैं !……बाल और सामूहिक दोनों प्रकार के घृणित दुष्कर्मियों को मृत्युदंड भी कम है !…………….आतंकवाद हमपर बड़ा खतरा है !…..शत्रुवत पड़ोसियों के कुप्रयास जारी है !……वैसे …..सबका समयानुकूल निदान निश्चित होता है ,……….फिर वही बात आती है ,…..सबसे बड़ी समस्या हमारी त्वचा के अन्दर है !……सद्साधकों को शीघ्रता से आत्मदर्शन करना चाहिए !……..पर्यावरण संसार की सबसे मुख्य समस्या है ,…….सार्थक प्रभावी स्वच्छता अभियानों के बावजूद हमारा पर्यावरण चिंताजनक स्थिति में है !…….धरती के इस हिस्से को अपनी भारी आबादी की बड़ी कीमत चुकानी पड़ रही है ,…..हम अब भी स्थिति सुधार सकते हैं ,…..उच्चतर तकनीक साधन अपनाने से किसी सीमा तक सुधार ला सकते हैं !………जनसँख्या नियंत्रण अत्यंत अनिवार्य है !……….भारत के साथ पाकिस्तान बांग्लादेश और सभी अधिसंख्यावान देशों को प्रभावी जनसँख्या सीमन नियम लागू करना चाहिए !……अन्यों को हम मित्रवत सलाह मात्र ही दे सकते हैं ,…लेकिन …. अपने पूज्य नेतृत्व से सादर प्रार्थना करते हैं कि मानवता के हित में सक्षम कानून बनाने की कृपा करें !…..भारत भूमि के प्रत्येक निवासी की यह जिम्मेदारी है कि हमसब एकजुटता से इसके लिए समर्थन करें !………..वैश्विक नियामकों शुद्धि सहयोगियों से भी हम सतत समर्थन सहयोग की सादर विनती करते हैं !……………..गणतंत्र की सतत सफलता में आवश्यक परिवर्तन से असहमति एक अवरोधक है !……..वर्तमान मानवता के लिए लोकतंत्र गणतंत्र सर्वश्रेष्ठ उपलब्ध विकल्प है !…….इसके लिए कार्यकरने वाली समस्त आत्माएं सादर अभिनंदनीय हैं !…….. आप सभी को पुनः ६९वे भारतीय गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं !………..ॐ शान्ति !……..भारत माता की जय !!……….वन्देमातरम !!!

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran